जिला मुख्यालय में रोपाई में जुटे किसान

उत्तराखंड रुद्रप्रयाग

रुद्रप्रयाग। पिछले दिनों जिला मुख्यालय समेत विभिन्न स्थानों पर अच्छी बारिश के बाद धान की रोपाई शुरू हो गई है। जिला मुख्यालय के पुनाड़ के साथ ही भाणाधार, हीतडांग एवं रैतोली में किसान रोपाई में जुटे हैं। महिला किसान के साथ ही बच्चे भी रोपाई में हिस्सा ले रहे हैं। यही नहीं, कई स्थानों पर ग्रामीण महिलाएं एक-दूसरे के खेतों में आपसी सहयोग से रोपाई में भी मदद कर रहे हैं।

धान की रोपाई के लिए 15 जून से 15 जुलाई तक का समय उपयुक्त माना जाता है, लेकिन कई बार समय से बारिश न होने से धान की रोपाई अगस्त तक बढ़ जाती है। पिछले वर्षों की भांति इस वर्ष लगातार हुई बारिश से प्राकृतिक जल स्रोतों के साथ ही गाड गदेरों में पानी बढ़ने से समय से रोपाई का कार्य भी शुरू हो गया है। भरदार के सिचित क्षेत्र, रानीगढ़, मयाली, नगरासू, खांकरा, तल्लानागपुर आदि क्षेत्रों में भी रोपाई शुरू कर दी गई है। किसान गांव में आपसी सहयोग की मिसाल कायम कर रहे हैं। सुबह से शाम तक किसानों का समय खेतों में ही गुजर रहा है। रोपाई में मदद के लिए पहुंच रही महिलाओं के लिए भोजन की व्यवस्था भी संबंधित परिवारों की ओर से की जा रही है। घर से रोटी, दाल, सब्जी, सूजी, चाय आदि तैयार कर खेतों में ही मिलजुलकर बैठकर इन पकवानों का आनंद ले रहे हैं।

काश्तकार विजय कप्रवाण, धर्मेद्र सिंह, नवीन सिंह और विक्रम सिंह का कहना है कि तीन दिनों तक हुई अच्छी बारिश से गाड गदेरे एवं प्राकृतिक स्रोतों का पानी भी बढ़ा है, जिससे इस बार समय से सिचित खेतों में रोपाई का कार्य भी शुरू हुआ है। रोपाई में महिलाओं के साथ ही बच्चे भी खूब आनंद उठा रहे है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *